" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

कर्नाटक पोर्न विवाद : तीनों मंत्रियों का इस्तीफा



विधानसभा में पोर्न क्लिप देखना कर्नाटक सरकार के तीन मंत्रियों को भारी पड़ा है। भाजपा नेतृत्व के आदेश के बाद इन मंत्रियों को बुधवार को अपना इस्तीफा सौंपना पड़ा। घटना से शर्मसार भाजपा ने पोर्न क्लिप देखने के दोषी सहकारिता मंत्री लक्ष्मण सवाडी और महिला व बाल विकास मंत्री सीसी पाटिल को पद छोड़ने के निर्देश दिए। दोनों मंत्रियों को कथित तौर पर यह ब्लू फिल्म उपलब्ध कराने वाले बंदरगाह, विज्ञान और तकनीकी मंत्री कृष्णा पालेमार को भी हटा दिया गया है।


विधानसभा पोर्न वीडियो देखते हुए पकड़े गए
सवाडी और पाटिल को राज्य विधानसभा की कार्यवाही के दौरान मंगलवार को मोबाइल पर पोर्न वीडियो फुटेज देखते हुए कैमरे में कैद किया गया था। इस घटना से सदानंद गौड़ा के नेतृत्व वाली कर्नाटक सरकार और भाजपा की छवि को दाग लगा है। सवाडी, पाटिल और पालेमार ने संवाददाताओं से चर्चा में कहा, ‘हम पार्टी तथा सरकार को और अधिक शर्मसार होते नहीं देखना चाहते। हम तीनों ने इस्तीफा देने का फैसला किया है। हमने अपना इस्तीफा स्वीकार करने के आग्रह के साथ मुख्यमंत्री को सौंप दिया है।’


स्कैंडल कर्नाटक विधानसभा में छाया रहा
भाजपा की ओर से तीनों मंत्रियों को तलब कर इस्तीफा देने का फरमान सुनाया गया था। मुख्यमंत्री सदानंद गौड़ा, राज्य भाजपा प्रमुख केएस ईश्वरप्पा और पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा सहित कई वरिष्ठ नेता इस बैठक में उपस्थित थे। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी द्वारा मुख्यमंत्री और ईश्वरप्पा को तीनों मंत्रियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश देने के बाद यह बैठक बुलाई गई थी। पोर्न स्कैंडल बुधवार को कर्नाटक विधानसभा में छाया रहा। कांग्रेस व जद-एस सदस्यों सहित विपक्ष ने मामले से जुड़े तीनों मंत्रियों के निलंबन, सदन की सदस्यता से अयोग्य घोषित करने तथा उनकी तुरंत गिरफ्तारी की मांग की। मुख्यमंत्री सदानंद गौड़ा ने तीनों मंत्रियों के इस्तीफे और राज्यपाल हंसराज भारद्वाज द्वारा उन्हें स्वीकार करने की जानकारी सदस्यों को दी।


कांग्रेस-भाजपा में ‘बयानयुद्ध’
इन दिनों भाजपा के कुछ लोगों के पास हर तरह का मनोरंजन है। कभी यह राजनीतिक मनोरंजन होता है तो कभी अलग तरह का मनोरंजन।
-कपिल सिब्बल, केंद्रीय मंत्री


तीनों मंत्रियों को इस्तीफा देने को कहकर भाजपा ने उच्च नैतिक मूल्य स्थापित करने का उदाहरण पेश किया है। विपक्ष पूरे मामले को राजनीतिक हथियार के तौर पर इस्तेमाल करना चाहता है।
-सदानंद गौड़ा, सीएम कर्नाटक

SEND THIS POST TO YOUR FACEBOOK FRIENDS/GROUPS/PAGES
" "