" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

राहुल, माया की कथनी-करनी में फर्क : टीम अन्ना

मतदान से पूर्व मतदाताओं को जागरूक करने के लिए अभियान पर निकली टीम अन्ना की सदस्य और भारत की प्रथम महिला आईपीएस किरण बेदी ने कहा कि प्रदेश की तस्वीर को बदलने के लिए निकले राहुल चाहते तो देश में सशक्त जनलोकपाल आ सकता था। लेकिन उनके और सूबे की मुख्यमंत्री मायावती की कथनी-करनी में फर्क है। किरण बेदी स्थानीय पंजाब नेशनल बैंक के समीप बृहस्पतिवार को हुई सभा को संबोधित कर रहीं थीं। उन्होंने लोगों से साफ छवि वाले प्रत्याशी का चुनाव करने की अपील की और कांग्रेस सहित अन्य प्रमुख दलों पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने अपने संबोधन के दौरान सभा में उपस्थित स्कूली छात्रों से कहा कि इस प्रकार से शिक्षा ग्रहण करना कि जब 18 वर्ष के हो जाओ तो इसका ज्ञान हो सके कि आप जिसे चुन रहे हो वह एक अच्छी छवि का नेता है। युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि नया युवा जिस तरफ जाएगा जीत उसी की होगी।


उन्होंने महिलाओं से किसी के बहकावे में न आकर अपने मन से मतदान करने की अपील की। श्रीमती बेदी ने कांग्रेस और बसपा को आड़े हाथों लेते हुए उन्हें भ्रष्टाचार में लिप्त बताया। मनीष सिसौदिया ने कहा कि वह यूपी में बदलाव के लिए पांच वर्ष का समय नहीं मांग रहे हैं।
उन्हें तो उसे लूटने के लिए पांच साल चाहिए। उन्हें दु:ख इस बात का है कि यहां की जनता कांग्रेस केे हाथों क्यों नहीं लुट रही है।


उन्होंने सपा, बसपा और भाजपा को भी आड़े हाथों लिया और उनके खिलाफ अपनी भड़ास निकाली। पूर्व सांसद इलियास आजमी ने कहा कि बड़े वे नहीं जो जीतकर संसद में पहुंचे हैं, बड़े तो वे हैं जिन्होंने वोट देकर उन्हें संसद में पहुंचाया है। कहा कि संसद को शतरंज बना दिया गया है। टीम अन्ना के अन्य सदस्य गोपाल कृष्ण, रामधीरज, संजय सिंह ने भी लोगों को संबोधित करते हुए साफ-सुथरी छवि वाले प्रत्याशी का चुनाव करने की बात कही। इस अवसर पर अशोक सिंह, डा. शैलेश कुमार श्रीवास्तव, संतोष सिंह, बीआर चौधरी, हरिश्चंद्र, संजय गुप्ता, पंकज मिश्र, मुरलीधर सिंह, आदि मौजूद रहे। संचालन सूर्यनाथ सिंह ने किया।
SEND THIS POST TO YOUR FACEBOOK FRIENDS/GROUPS/PAGES
" "