" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

रैलियों के जरिए मतदाताओं को जागरूक कर रही है टीम अन्ना


उत्तर प्रदेश के चुनावी मौसम में टीम अन्ना का तूफान भी दिखने लगा है। राजनीतिक रैलियों को छोड़कर लोग टीम अन्ना की मतदाता जागरूकता रैलियों में हिस्सा लेने के लिए दूर-दूर से आ रहे हैं।

गाजीपुर जिले के रहने वाले 30 वर्षीय मनोज अपने शहर में हुई टीम अन्ना की रैली में हिस्सा नहीं ले सके तो वो 100 किलोमीटर का सफर तय करके चंदौली की रैली में हिस्सा लेने पहुंचे। मनोज कहते हैं, 'एक जागरूक और जिम्मेदार मतदाता होते हुए मैं इस पशोपेश में था कि किसे वोट करूं और क्यों करूं क्योंकि मेरी विधानसभा के प्रत्याशियों में एक भी साफ सुथरे चरित्र का नहीं है। मैं टीम अन्ना की रैली का इसलिए भी इंतजार कर रहा था क्योंकि मैं जानना चाहता था कि मुझे किसे वोट करना चाहिए।'

राहुल की रैली छोड़ यहां हुए शामिल

इस रैली की खास बात यह भी रही कि यह उस समय भारी भीड़ जुटाने में सफल हुई जब शहर के अन्य हिस्से में कांग्रेस के महासचिव राहुल गांधी की रैली चल रही थी। रैली में शामिल स्थानीय लोगों का यह भी कहना था कि वो राहुल की रैली में इसलिए नहीं गए क्योंकि राहुल अपनी पार्टी के प्रत्याशी के लिए वोट मांगने आए थे जबकि टीम अन्ना हमें यह बताने आई थी कि अपने मताधिकार का इस्तेमाल सही ढंग से कैसे करना चाहिए।

आजमगढ़ में बड़ी तादाद में लोग जुटे

आजमगढ़ में भी टीम अन्ना की रैली में भारी तादाद में लोग जुटे। इंडिया अगेंस्ट करप्शन के स्वयंसेवकों द्वारा कुंवर सिंह उद्यान में आयोजित इस रैली में सभी वर्गों के लोग नजर आए। चुनावी मौसम में आजमगढ़ में ताबड़तोड़ हो रही रैलियों से यह रैली अलग थी। इसे किसी राजनीतिक दल ने नहीं बल्कि भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन चला रहे इंडिया अगेंस्ट ने आयोजित किया था।

भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त कानून लोकपाल के बारे में लोगों को जागरूक करने और अपने मताधिकार के सही इस्तेमाल के बारे में लोगों को बताने के लिए आयोजित इस रैली में टीम अन्ना सदस्यों ने लोगों से सोच-समझकर वोट देने का आह्वान किया।

पूर्वी उत्तर प्रदेश के गाजीपुर, बलिया, बस्ती, गोंडा, फैजाबाद और बाराबंकी जिले में चुनाव प्रचार करने के बाद टीम अन्ना ने आजमगढ़, चंदौली, वाराणासी और इलाहाबाद में भी चुनाव प्रचार अभियान को सफलता से पूरा कर लिया है।

टीम अन्ना अपने चुनाव प्रचार अभियान का तीसरा चरण 13 फरवरी को रायबरेली से शुरु करेगी। 13 फरवरी को ही कन्नौज और फरुखाबाद में भी रैली होगी जबकि 15 फरवरी को मैनपुरी और इटावा और 16 फरवरी को ललितपुर और झांसी में रैलियां होंगी।


SEND THIS POST TO YOUR FACEBOOK FRIENDS/GROUPS/PAGES
" "