" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

टीम अन्ना बनाम कांग्रेस

आप इसे मीडिया की खबरों में जगह के जुगाड़ का जतन कह लीजिए या दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में सार्वजनिक बयानबाजी के गिरते स्तर पर भड़के आम नागरिक की इंसाफ के मंदिरों में लगाई गई ईमानदार गुहार। लेकिन भ्रष्टाचार, काले धन और लोकपाल विधेयक के अहम मुद्दों की पृष्ठभूमि में टीम अन्ना और कांग्रेस के बीच जारी तीखे बोलों के घमासान की गूंज यहां की अदालतों में बराबर सुनाई पड़ रही है। इस तल्ख बयानबाजी से खुद को ‘आम नागरिक के रूप में आहत’ बताते हुए दोनों पक्षों की मशहूर हस्तियों के खिलाफ शिकायत याचिकाएं दायर करके उन्हें अदालत में घसीटने का चलन जोर पकड़ता जा रहा है।

इस फेहरिस्त में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, गांधीवादी सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे और योग गुरु बाबा रामदेव के साथ वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण और देश की पहली महिला आईपीएस अधिकारी किरण बेदी से लेकर कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी तक शामिल हैं। शहर के वकील इंद्रजीत सिंह भाटिया ने हाल ही में टीम अन्ना के दो अहम सदस्यों प्रशांत भूषण और किरण बेदी को अलग-अलग शिकायत याचिकाओं के जरिये अदालत में घसीटा है। भाटिया ने आज ‘भाषा’ से कहा कि उन्होंने यह कदम इसलिये उठाया, क्योंकि भूषण और किरण के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के खिलाफ अति आपत्तिजनक उपमाओं के इस्तेमाल से वह एक आम नागरिक के रूप में आहत हैं।

" "