" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

प्रणब के खिलाफ जांच की जानी चाहिए : टीम अन्ना

समाजसेवी अन्ना हजारे के सहयोगियों ने शुक्रवार को संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की तरफ से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार प्रणब मुखर्जी के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कराने की मांग करते हुए कहा कि ऐसे गम्भीर आरोपों का सामना कर रहे व्यक्ति के कारण देश के शीर्ष पद की प्रतिष्ठा प्रभावित होगी।


अन्ना के सहयोगियों द्वारा प्रणब को लिखे पांच पृष्ठों के पत्र में कहा गया है ‌कि भारत का राष्ट्रपति बनने के इच्छुक व्यक्ति को आरोपों से परे होना चाहिए। आप भी इससे सहमत होंगे कि यदि कोई व्यक्ति गम्भीर आरोपों का सामना कर रहा है और वह यदि इन आरोपों से पाक साफ होने से पहले ही राष्ट्रपति बनता है तो वह इस पद की प्रतिष्ठा को कम करेगा।


टीम अन्ना ने लिखा है कि इसीलिए हम इस पद पर नियुक्ति होने से पहले आप के खिलाफ लगे सभी आरोपों की स्वतंत्र जांच कराने की मांग करते हैं। पत्र पर सात सहयोगियों के हस्ताक्षर थे। प्रणब ने अन्ना के सहयोगियों द्वारा उनके खिलाफ लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों को गलत एवं प्रेरित बताया था। इसके बाद यह पत्र सामने आया।
" "