" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

केजरीवाल फर्रुखाबाद की रैली में लाठियों पर प्रतिबंध


उत्तरप्रदेश के फर्रुखाबाद में अरविंद केजरीवाल की रैली में प्रशासन ने लाठियों पर प्रतिबंध लगा दिया है। केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद के ट्रस्ट में गड़बड़ी के खिलाफ यह रैली होने वाली है। केजरीवाल को खुर्शीद की कथित धमकी के बाद भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) ने लठैत तैनात करने की घोषणा की थी। खुर्शीद ने कहा था कि केजरीवाल फर्रुखाबाद आएं। फिर वहां से लौटकर भी दिखाएं। हालांकि खुर्शीद ने बाद में इस तरह की धमकी देने की बात से इनकार किया था। 

कांग्रेस नेताओं ने जिला प्रशासन से मिलकर बीकेयू कार्यकर्ताओं को लाठी लेकर रैली में आने से रोकने की मांग की थी। उन्होंने आशंका जताई थी कि इससे कानून-व्यवस्था के लिए समस्या पैदा हो सकती है। हिंसा भड़काने वाले बयानों को लेकर बीकेयू के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की गई। बताया गया है कि किसान यूनियन ने अपने सदस्यों को लाठी का प्रशिक्षण देना भी शुरू कर दिया था। अधिकारियों का कहना है कि रैली की अनुमति देते समय सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा गया है। हथियार लेकर आने पर मनाही है। भड़काऊ बयान न देने को कहा गया है। 

इंडिया अगेंस्ट करप्शन की ओर से एक नवंबर को होने वाली सभा में उसके नेता अरविंद केजरीवाल के भाषण को वेव कैमरे से इंटरनेट पर सीधे प्रसारण की व्यवस्था की गई है जिससे उनके भाषण को प्रत्येक चौथे मिनट पर दुनिया के हर कोने में सुना जा सकेगा। आईएसी के सूत्रों ने बताया है कि निर्धारित सोशल साइटों पर सोमवार से ही प्रचारित पोस्टर तथा पैम्फलेट के प्रसारण का सिलसिला जारी हो जाएगा। उन्होंने बताया कि सभा की कार्रवाई को वेव कैमरे से कैप्चर कर लैपटाप के जरिए आईएसी लाइव डॉट कॉम साइट पर लोड किया जाएगा। 

इस बीच, आईएसी के भ्रष्टाचार विरोधी अभियान के तहत केजरीवाल की सभा से पहले ही आईएसी और सलमान समर्थकों द्वारा पोस्टर बाजी का सिलसिला शुरू हो जाने से फर्रुखाबाद-फतेहगढ़ नगरों का माहौल गरम होने लगा है। जिला प्रशासन स्थिति पर नियंत्रण के लिए चौकस है। अपर पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह ने कहा कि भ्रामक प्रचार कराने वालों की जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी। दूसरी तरफ भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट ने केजरीवाल के अभियान में अपनी भूमिका को फिलहाल केवल फर्रुखाबाद में पहली नवंबर को होने वाली उनकी जनसभा तक ही सीमित रखने की घोषणा की है। 

यूनियन के मंडल अध्यक्ष धर्मवीर सिंह यादव ने रविवार को यहां घोषणा की कि चूंकि केजरीवाल ने भविष्य में एक राजनैतिक दल के गठन की घोषणा कर दी है, इसलिए उनकी पार्टी की भूमिका मात्र केजरीवाल की एक नवंबर को आयोजित सभा तक ही सीमित है। 

" "