" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

अन्ना के नए केजरीवाल हैं जनरल वी. के. सिंह

v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare v k singh anna hazare

v k singh anna hazare


नई दिल्ली।सोमवार को एक बार फिर अन्ना हजारे की दहाड़ सुनाई दी। मुंबई में पूर्व सेना प्रमुख जनरल वी. के सिंह के साथ मीडिया से मुखातिब हुए अन्ना हजारे ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला किया। इस दौरान पूर्व सेना प्रमुख ठीक उसी अंदाज में अन्ना से किए जा रहे सवालों का जवाब दे रहे थे, जैसे कुछ वक्त पहले तक अरविंद केजरीवाल दिया करते थे। ऐसे में माना जा रहा है कि सिंह ने वह जगह भर दी है, जो अरविंद केजरीवाल के राजनीति में जाने के बाद खाली हो गई थी।

मुंबई में अन्ना हजारे और पूर्व सेना प्रमुख जनरल वी. के. सिंह की जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस में अन्ना से पूछे गए कई सवालों का जवाब पूर्व सेना प्रमुख ने दिया। उन्होंने भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन की नई नीतियों के बारे में बताया। अन्ना से पूछे जा रहे टेढ़े सवालों का जवाब सिंह खुद ही दे रहे थे और अपनी तरफ से सफाई भी दे रहे थे। सिंह की यह भूमिका ठीक वैसी ही है, जैसी कि अन्ना के लिए अरविंद केजरीवाल की रही है। जन लोकपाल के लिए चलाए गए आंदोलन के दौरान अरविंद केजरीवाल ही खुद पहल करके अन्ना से पूछे जाने वाले सवालों के जवाब दिया करते थे।


अन्ना हजारे ने भी इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पूर्व सेना प्रमुख को पूरा सम्मान दिया। देश की यात्रा करने का ऐलान करते हुए अन्ना ने कहा, 'हम सिर्फ दो लोग नहीं हैं। हमारे आंदोलन के समर्थन में लाखों-करोड़ों लोग सड़कों पर उतर आएंगे।' इसके बाद वी. के. सिंह ने ही अन्ना की तरफ से मोर्चा संभाला। उन्होंने न सिर्फ आंदोलन को लेकर रणनीति का खुलासा किया, बल्कि मीडिया के सवालों का जवाब भी दिया। इस तरह से लग रहा है कि पूर्व सेना प्रमुख जनरल वी. के. सिंह ने मौजूदा टीम अन्ना में वही स्थान हासिल कर लिया है, जो पुरानी टीम अन्ना में अरविंद केजरीवाल का था।

" "