" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

नई टीम अन्ना कर रही व्यवस्था को नया स्वरूप देने का मंथन


बिजनौर : समाजसेवी अन्ना हजारे की नई टीम नई रणनीति के साथ मैदान में उतरने की तैयारी में है। अन्ना के गांव रालेगण सिद्धि में इस पर मंथन भी हुआ। इसमें तय हुआ कि आंदोलनात्मक गतिविधियों के साथ-साथ समाज में आई जागरूकता और उत्साह को रचनात्मकता की तरफ मोड़ा जाए। टीम के सदस्य जनपद निवासी डा. रण सिंह आर्य भी इसमें शामिल हुए।

जिले के गांव गोविंदपुर में वर्षो से जीवन विद्या प्रतिष्ठान का संचालन कर रहे डा. रण सिंह आर्य ने रालेगण सिद्धि से लौटने पर बताया कि सात जनवरी को दिल्ली के राजघाट से स्वराज्य संवाद यात्रा शुरू की गई थी। यह यात्रा 12 जनवरी को महाराष्ट्र में अन्ना हजारे के गांव रालेगण सिद्धि पहुंची। वहां विभिन्न मुद्दों पर टीम के बीच मंथन हुआ। कहा गया कि वर्तमान व्यवस्था और ढांचा बेहद लचर हो चुका है। इसी व्यवस्था में सुशासन और नीति निर्माण के लिए आंदोलनात्मक गतिविधियां, जागरूकता रैलियां और यात्राएं की जाएं।

 इसके साथ-साथ यह सुझाव भी सामने आया कि समाज के सामने नयी व्यवस्था का ही विकल्प रख दिया जाए। इस दिशा में दुनियाभर में लोग लगे हैं, उनके साथ मंथन कर इस विकल्प पर प्रयोग किया जाए। इसी के साथ कहा गया कि विकास के मौजूदा मॉडल ने पूरी धरती को रोगग्रस्त, वातावरण को प्रदूषित और मानव जाति को बीमार कर दिया है। ऐसे में विकास के सही मायने और स्वरूप को भी सामने लाने की जरूरत है। समाज में रचनात्मकता का वातावरण बनाने पर भी बल दिया गया। इस दिशा में कार्य कर रहे शिक्षा, स्वास्थ्य, उद्यम, खेती आदि में रचनात्मक कार्य कर रहे लोगों को इससे जोड़ा जाएगा। उनके माडल नीति निर्माण का हिस्सा बनेंगे। उन्हें एक मंच पर लाकर विकास के नये-नये माडल समाज के सामने प्रस्तुत किए जाएं।

" "