" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

राजनीति नहीं हमारा जोर लोगों को बदलने पर : अन्ना हजारे


मुंबई। अन्ना हजारे और पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने मंगलवार को मुंबई एयरपोर्ट पर लंदन से लाई गईं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 29 यादगार वस्तुएं ग्रहण कीं। यहां 30 जनवरी से अपने जनजागरण अभियान का जिक्र करते हुए अन्ना ने कहा कि हमारी प्राथमिकता राजनीति नहीं, लोगों को बदलने की है। जब तक लोगों में सरकार गिराने की ताकत नहीं आ जाती, देश में बदलाव नहीं आएगा।

अन्ना ने कहा कि अगर देश में गांधीजी के सिद्धांतों को अमल में लाया जाता तो आज ऐसे हालात नहीं होते। उन्होंने पटना के गांधी मैदान में बड़ी रैली के जरिये जन जागरूकता अभियान का शंखनाद करने का एलान किया है। अन्ना से जब यह पूछा गया कि क्या वह चाहेंगे कि आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल उनके आंदोलन में शामिल हों, इस पर उन्होंने कहा कि जो कोई भी देश में बदलाव लाना चाहता है, उसे इसमें शामिल होना चाहिए। उन्होंने दुष्कर्म के मामलों में कड़ी सजा की वकालत की। दिल्ली सामूहिक दुष्कर्म मामले में आध्यात्मिक गुरु आसाराम बापू और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के बयान पर उन्होंने टिप्पणी से इन्कार कर दिया।

जनरल सिंह ने भी देश में स्वराज लाने की वकालत की। इससे पहले अन्ना और जनरल सिंह ने पूर्व केंद्रीय मंत्री कमल मोरारका के प्रयासों से लाई गई बापू की यादगार वस्तुओं को प्राप्त किया। गांधी जी का चरखा, चश्मा, उनके खून से सनी मिंट्टी व घास समेत अन्य महत्वपूर्ण वस्तुओं को अब देश भर में ले जाया जाएगा। इसके सहारे युवा पीढ़ी को गांधीवादी सिद्धांतों से परिचित कराया जाएगा।

" "