" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

अन्ना की रैली का मकसद सिस्टम में बदलाव: वी के सिंह


पूर्व सेना प्रमुख जनरल वी के सिंह ने बुधवार को कहा कि पटना में आगामी 30 जनवरी को समाजसेवी अन्ना हजारे की आयोजित होने वाली जनतंत्र रैली का मकसद वैसे लोगों को जोडना है जो देश में परिवर्तन चाहते हैं.

अन्ना की इस रैली को लेकर आज यहां आयोजित एक बैठक को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि अन्ना जी इस रैली का मकसद वैसे लोगों को जोडना है, जो देश में परिवर्तन चाहते हैं.

उन्होंने वर्तमान संसद को संविधान विरोधी बताते हुए कहा कि इसलिए जनता को उसे भंग कर नई संसद और चरित्रवान उम्मीदवारों को चुनकर अपने लिए नए भविष्य का निर्माण करना होगा.

पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में इस रैली को आयोजित किए जाने की जिला प्रशासन द्वारा आज अनुमति दे दिए जाने पर सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का शुक्रिया अदा किया.उन्होंने कहा कि अन्ना की इस रैली के जरिए जनसाधारण को जोडा जाएगा और इस रैली के दौरान आगे के कार्यक्रम के बारे में बातें की जाएंगी. इस रैली में युवाओं के साथ सभी वर्ग एवं समुदाय से बढ-चढकर भागीदारी करने और उसे सफल बनाने की अपील करते हुए सिंह ने कहा कि जो भी देश हित में इस रैली के साथ जुड़ना चाहेंगे उनका वे स्वागत करेंगे.

सिंह ने दिल्ली सामूहिक बलात्कार की घटना की ओर इशारा करते हुए कहा कि आज युवा वर्ग के साथ काफी लोग सडकों पर हैं और उनका गुस्सा केवल एक मामले को लेकर नहीं है बल्कि उसके धरातल में काफी कुछ है और ये सारे मामले व्यवस्था और सुशासन को लेकर है. उन्होंने कहा कि इसको (बलात्कार) लेकर संसद का विशेष अतिशीघ्र बुलाए जाए ताकि देश में सख्त कानून बने और ऐसी घटनाओं पर रोक लगे.

अन्ना हजारे की रैली के साथ युवाओं को जोडे़ जाने की जरूरत बताते हुए कहा कि युवाओं का एक बडा योगदान है, क्योंकि देश में होने वाले अगले आम चुनाव में करीब नौ करोड युवा पहली बार अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जबकि 18 करोड ऐसे युवा होंगे जो दूसरी बार वोट डालेंगे.

पूर्व सेना प्रमुख को पूर्व में उपलब्ध सुरक्षा गार्डों को सरकार द्वारा हटा लिए जाने के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने कहा कि उसका उन्हें मलाल नहीं है.
" "