" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

1947 से पहले VS आज 2012


1928 में साइमन कमिसन का विरोध करने वाले लाला लाजपत राय पर अंग्रेजो ने लाठी चार्ज किया था, जिसमे लाला जी के सर पे 14 लाठिया पड़ने से 17 नवम्बर 1928 को उनकी म्रत्यु हो गई थी,अदालत में केस भी छुट गया था इस आधार पर की 1860 के पुलिस एक्ट में अँगरेज़ पुलिस को लाठी चार्ज का अधिकार है मतलब राईट टू ओफ्फेंस 1860 के पुलिस एक्ट सहित 34735 कानून अंग्रेजो के जाने और आज़ादी मिलने के 66साल बाद भी चल रहे है,मुझे लाला लाजपत राय बहन राजबाला की म्रत्यु व कल डेल्ही पुलिस द्वारा लाठी चार्ज की घटनाओ में कोई अंतर नहीं लगता क्यों की अंग्रेजो के जाने के बाद उनका तंत्र आज तक जीवित है सत्ता के भूखे भेडिये इसी कारण सत्ता हस्तांतरण में सुभाष चन्द्र बोस जैसे नायक को भी सौपने का समझौता कर बैठे थे,लेकिन भारत के लोग जो आज भी कांग्रेस को वोट करते है उनकी बुध्हि पर तरस आता है वो कांग्रेस को कुंभ का पवित्र स्नान समझते है की कांग्रेस को वोट दिए बिना मोक्ष नहीं प्राप्त होगा---विनय दिवेदी !!!

" "