" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

दिल्ली गैंगरेप: पीडि़त की मौत के बाद बढ़ रहा लोगों का गुस्सा, सरकार ने लगाया पहरा


दिल्ली में गैंगरेप की शिकार लड़की की मौत हो गई है। सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ हॉस्पिटल में भारतीय समय के अनुसार आज सुबह करीब 2.15 बजे उसकी मौत हुई। हॉस्पिटल के डॉक्टरों के मुताबिक शरीर के कई अंगों के काम बंद करने यानि मल्टीपल ऑर्गन फेल्योर के चलते पीड़िता की मौत हुई।

23 साल की मेडिकल छात्रा के साथ 16 दिसंबर को गैंगरेप हुआ था, जिसके बाद से ही उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई थी। 12 दिनों तक पीड़िता ने बहादुरी के साथ जीवन बचाने के लिए संघर्ष किया, लेकिन हालत बहुत ज्यादा बिगड़ जाने से डॉक्टर उसे बचा नहीं सके। उसकी मौत के वक्त परिवार के सदस्य और सिंगापुर में भारत के उच्चायुक्त मौजूद थे। पीड़िता के अंतिम संस्कार के लिए उसका मृत शरीर भारत लाया जाएगा।

सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ हॉस्पिटल ने गैंगरेप पीड़िता की मौत पर शोक जताया है। हॉस्पिटल ने बयान जारी कर कहा है कि मरीज को जिस दिन से लाया गया था, उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई थी। हॉस्पिटल के 8 स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की टीम के पूरे प्रयासों के बावजूद मरीज की हालत में सुधार नहीं आ सका।

सिंगापुर में भारत के उच्चायुक्त टी सी ए राघवन ने कहा है कि लड़की की चोट इतनी गंभीर थी कि डॉक्टरों के इलाज के बावजूद उसे बचाया नहीं जा सका।

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने गैंगरेप पीड़िता की मौत पर शोक जताया है। प्रधानमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा है कि लड़की भले ही जिंदगी की लड़ाई हार गई हो, हमें ये सुनिश्चित करना चाहिए कि उसकी मौत बेकार साबित ना हो। हमने देखा है कि इस घटना ने किस तरह से भावनाएं जगाई हैं और अगर हम नौजवानों की इन भावनाओं और ऊर्जा का इस्तेमाल सकारात्मक तरीके से कर सकें तो ये उसे सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर ये भी कहा कि सरकार ऐसे अपराधों को रोकने के लिए कड़े कानून बनाने को प्राथमिकता दे रही है और उन्होंने सभी राजनीतिक दलों और सिविल सोसायची से इसमें मदद करने की अपील की।

दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने भी पीड़ित लड़की की मौत पर दुख जताया है और लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

गैंगरेप की शिकार लड़की की मौत के बाद दिल्ली में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दिल्ली पुलिस ने इंडिया गेट की तरफ जाने वाले तमाम रास्तों पर बेरिकेडिंग कर दी है। सीआरपीएफ की 28 कंपनियां समेत कुल 40 कंपनियों को दिल्ली की सुरक्षा में तैनात किया गया है।

साथ ही दिल्ली मेट्रो के 10 स्टेशनों को आज के लिए बंद कर दिया गया है। पुलिस ने आम जनता से शांति बनाए रखने की अपील की है। साथ ही पुलिस ने लोगों से राजपथ, विजय चौक, रफी मार्ग, अशोक मार्ग से बचने की सलाह जारी की है।

" "