" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

रामदेव के निशाने पर सोनिया और मनमोहन

Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev, Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev,

Sonia Gandhi, manmohan singh, baba ramdev


दिल्ली :  बाबा रामदेव ने दिल्ली गैंगरेप मामले पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि ये देश इन दोनों के इस मुद्दे पर मौन टूटने का इन्तजार कर रहा है।

दिव्य योग मंदिर में संवाददाता सम्मेलन में रामदेव ने आरोप लगाया कि विपक्ष अपना पक्ष स्पष्ट कर चुका है, लेकिन सत्ता पक्ष की चुप्पी सोचने पर मजबूर करती है कि देश के 260 विधायकों और सांसदों पर रेप के मामले दर्ज हैं। कहीं उन्हें बचाने का प्रयास तो सरकार की चुप्पी में नहीं छुपा है।

रामदेव ने दावा किया कि आजादी के बाद से अब तक किसी बड़े आदमी के परिवार में इस तरह की घटना नहीं हुई है और यदि होती तो शायद तुरंत कानून बन जाता। उन्होंने अपने ऊपर लग रहे आरोपों का स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि मैं दिल्ली में आन्दोलन हाईजैक करने नहीं गया था, क्योंकि छात्रों के साथ कोई राजनैतिक पार्टी नहीं थी, तो मैं अपने साथ 100 बसें और सैकड़ों अन्य वाहन से आन्दोलनकारियों को समर्थन देने गया था।

रामदेव ने आन्दोलनकारियों से पुलिस के व्यवहार की निंदा की तथा बलात्कारियों के लिये फांसी की सजा की मांग और फास्ट ट्रैक अदालत में सुनवाई की मांग की। उन्होंने फिल्मों और टीवी सीरियल पर प्रतिबंध लगाने की भी मांग की, जिसमें बलात्कार की घटना को सस्ते मनोरंजन के लिए परोसा जाता है।

" "