" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

गैंगरेप पीड़िता की मौत पर सभी नेता अपनी राजनातिक रोटियां सकते नज़र आये

गैंगरेप का शिकार हुई लड़की की सिंगापुर में मौत के बाद दुख का माहौल बन गया है. जैसे-जैसे लोगों को इसके बारे में पता चल रहा है, लोग दुख प्रकट कर रहे हैं. गैंगरेप पीड़िता की मौत पर विभिन्न लोगों के बयान अब तक आए हैं-

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह: पीएम ने दिल्ली में 16 दिसंबर की रात चलती बस में सामूहिक बलात्कार की शिकार हुई लड़की के निधन पर अफसोस व्यक्त करते हुए उम्मीद जताई है कि भारत को रहने के लिए सुरक्षित बनाने के उद्देश्य से सभी राजनीतिक वर्ग और समाज अपने संकीर्ण गुटीय हितों को दरकिनार करेंगे.

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी: राष्ट्रपति ने सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की मौत पर दुख जताया है. प्रणब मुखर्जी ने कहा कि पीड़िता की मौत को व्यर्थ नहीं जाने देना चाहिए. उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाएं दोबारा कभी न हों, यह सुनिश्चित करने के लिए सरकार हर सम्भव उपाय करेगी.
सोनिया गांधी: कांग्रेस अध्यक्ष और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने भी शोक जताया.

सुशील कुमार शिन्दे: सामूहिक बलात्कार की शिकार युवती की मौत पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए केन्द्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिन्दे ने वादा किया कि कानून को और कड़ा किया जाएगा ताकि इस तरह की वारदात की पुनरावृत्ति को रोका जा सके.

नरेंद्र मोदी: गुजरात के मुख्यमंत्री और बीजेपी के फायरब्रांड नेता नरेंद्र मोदी ने कहा,  देश की बहादुर बेटी चली गई.

मायावती: बीएसपी प्रमुख मायावती ने मांग की महिलाओं की सुरक्षा के लिए कड़े कानून बने.

शीला दी‍क्षित: दिल्‍ली की मुख्‍यमंत्री शीला दी‍क्षित ने कहा, 'पीडि़ता के परिवार के साथ हमारी संवेदनाएं हैं. वह लड़की बहुत बहादुरी के साथ लड़ी.' शीला दीक्षित ने लोगों से अपील की कि दुख की इस घड़ी में लोग शांति बनाए रखें. उन्‍होंने कहा कि इस तरह की घटना हमारे लिए शर्म की बात है.

शाहनवाज हुसैन: बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने भी शोक जताया.

मीरा कुमार: लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने भी दिल्ली गैंगरेप पीड़िता की मौत पर दुख जताया.

अस्‍पताल प्रशासन: सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल के सीईओ ने प्रेस रिलीज जारी कर लड़की की मौत पर अफसोस जताया.

भारतीय उच्चायुक्त, सिंगापुर: उच्चायुक्त टीसीए राघवन ने कहा लड़की को बचाने की हर मुमकिन कोशिशें हुईं. उसे बहुत गहरी चोट आई थी. परिवार की प्राइवेसी का ध्यान रखें.

नितिन गडकरी: बीजेपी अध्यक्ष नितिन गडकरी ने भी दिल्ली गैंगरेप पीड़िता की मौत पर दुख जताया.

हेमा मालिनी: जानी मानी अभिनेत्री हेमा मालिनी ने कहा कि इस घटना ने हमारे सरकार और हम सबको संदेश दिया है. देश की महिलाएं इस तरह की स्थिति में डर के साये में जी रही हैं.

बीजेपी नेता अरुण जेटली: कानून-व्यवस्था की ओर चिंतन करने की आवश्यकता.

वी के सिंह: सेना के पूर्व प्रमुख जनरल वी के सिंह ने बलात्कार और बर्बरता की शिकार 23 वर्षीय छात्रा की मौत पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए जनता से अपील की कि दलगत भावना से उपर उठकर ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए साथ आना चाहिए.

जावेद अख्तर: हम सभी मौत के लिए जिम्मेदार.

अमिताभ बच्चन: गैंगरेप पीड़ित की मौत पर बॉलीवुड से संदेश आने शुरू हो गए हैं. अमिताभ बच्चन ने लड़की की मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया है.

कृष्णा तीरथ: महिला बाल विकास मंत्री कृष्णा तीरथ ने कहा कि लड़की की मौत पर हमारे भीतर दुख है. उन्होंने कहा कि वे इस बारे में गृहमंत्री से बात करेंगी और इस मामले में सख्त कार्रवाई की मांग करूंगी. भविष्य में ऐसी घटनाओं पर रोक लगाने के‍ लिए कड़े कानून बनाने होंगे. तीरथ ने कहा कि पुरुषों को भी आगे आने की जरूरत है. पुरुषों को महिलाओं को मान-सम्मान देना चाहिए. जागरुकता के लिए हम एक नई स्कीम भी लाने जा रहे हैं.

मनीष सिसोदिया: आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया ने कहा कि यह बहुत दुखद है. हमें उम्मीद थी कि वह बच जाए, लेकिन ऐसा नहीं हो सकता. वह सबके दिलों में जिंदा रहेगी, क्योंकि उसने पूरे देश को जगाने का काम किया है. यदि उसे सिंगापुर भेजने का फैसला राजनीतिक था तो यह बहुत गलत था.

ममता शर्मा: महिला आयोग की अध्यक्ष ने ममता शर्मा ने श्रद्धांजलि दी और कहा कि लड़की की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करें. यह दिन इतिहास में काले शब्दों में लिखा जाएगा. हमें अब उग्र होने की जरूरत नहीं है, हमें शांति बनाए रखने की जरूरत है. कानून में बड़े बदलाव की जरूरत है. यही नहीं कानूनों को लागू करना भी जरूरी है.

कविता कृष्णन: AIPWA की सेक्रेटरी कविता कृष्णन ने कहा है कि अब पूरी तस्वीर बदलने की जरूरत है. पूरे देश में माहौल बदलना चाहिए. सामाजिक कार्यकर्ता अरविंद गौर ने कहा कि महिलाओं को सुरक्षा और आजादी नहीं है. इस तरह की घटनाओं की जिम्मेदारी पूरे समाज की है. हमारा राजनीतिक और न्यायिक सिस्टम पूरा इसका जिम्मेदार है. हमारे पास न तो पॉलिटिकल विल है और न ही अंडरस्टैंडिंग है. गौर ने कहा कि मानसिकता बदलने की जरूरत है.

जावेद अख्तर: गीतकार जावेद अख्तर ने कहा हमें सरकार और पुलिस पर इल्जाम लगाकर पल्ला नहीं झाड़ लेना चाहिये. हर इंसान को अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए. यह घटना पूरे समाज को सोचने पर मजबूर करे. बड़ी-बड़ी बातें करने से कुछ नहीं होगा, हमें खुद के गिरेबान में भी झांकना होगा.

गंगा राम अस्पताल की डॉक्टर सिमरन नंदी: इस मामले पर दिल्ली के गंगा राम अस्पताल की डॉक्टर सिमरन नंदी का कहना है कि लड़की को यदि सिंगापुर भेजने की बजाय यहीं रखा जाता तो वह कुछ दिन और हमारे बीच में रह सकती थी.

" "