" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

भ्रष्ट तरीके से कमाई संपत्ति को जब्त करने के क़ानून पर राष्ट्रपति की मंजूरी मिल गयी है


राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद यह गृह मंत्रालय से कभी भी सरकार के पास आ सकता है, मंजूरी की फ़ाइल आते ही तुरंत इसे लागू कर दिया जाएगा, विधानसभा में इस साल 12 अप्रेल को यह कानून पारित किया गया था, इसके लागू होने के बाद भ्रष्टाचार के मामलों में सिर्फ तीन महीनों में फैसला हो सकेगा....
मुख्यमंत्री से लेकर सरपंच तक, सभी सरकारी अफसर और कर्मचारी, जो भी व्यक्ति सरकारी खजाने से वेतन भत्ते लेता है वो इस क़ानून के दायरे में आएगा.... 

कानून अपना काम करता है , लेकिन जिन पर लागू किया जाता है या जो इसे लागू करते है क्या वो अपने जिम्मेदारी निभाते है 


" "