" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

असीम त्रिवेदी ने 8 दिनों बाद केजरीवाल के आग्रह पर अनशन तोडा


जंतर मंतर : कार्टूनिस्ट असीम त्रिवेदी ने शनिवार को आठ दिनों बाद अपना अनशन तोड़ दिया. हाल ही में इन्हें उनके विवादित कार्टून के कारण सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 66ए के साथ ही देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. इस ‘असंवैधानिक’ कानून के तत्काल हटाए जाने की मांग को लेकर ही आठ दिनों से वह अनशन पर थे. 

पिछले आठ दिनों से त्रिवेदी यहां जंतर मंतर पर अनशन पर थे. आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के आग्रह पर उन्होंने अपना अनशन तोड़ा. केजरीवाल ने उनको अपना जीवन बर्बाद नहीं करने की सलाह दी और ‘सरकार को समूल नष्ट करने’ के लिए काम करने को कहा.

त्रिवेदी और उनके सहयोगी आलोक दीक्षित ने प्रदर्शन स्थल पर केजरीवाल के हाथों जूस पीकर अपना अनशन तोड़ा.

केजरीवाल की यहां उपस्थिति महत्वपूर्ण थी क्योंकि इससे पूर्व त्रिवेदी ने इस कार्यकर्ता के राजनीति में आने के निर्णय का विरोध किया था.

हालांकि त्रिवेदी ने कहा कि उन्हें लगता है कि उनका निर्णय सही था.

उन्होंने कहा, ‘हमने सरकार के समक्ष अपनी बात रखने की भरपूर कोशिश की लेकिन सरकार सुनती ही नहीं है. इस वक्त देश को राजनीतिक विकल्प की जरूरत है.’ केजरीवाल ने सरकार पर आम लोगों के प्रति बहरे होने का आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसी स्थिति में अब अपना रास्ता बदलना ही एकमात्र विकल्प है.

केजरीवाल ने कहा, ‘इस देश के युवा अपने विचारों की अभिव्यक्ति के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं. सूचना प्रौद्योगिकी की धारा 66ए असंवैधानिक है और इस कानून के तहत युवाओं को गलत तरीके से गिरफ्तार किया जा रहा है. कम से कम सरकार को उनकी बात जरूर सुननी चाहिए.’ त्रिवेदी ने इस अधिनियम में बदलाव किए जाने पर जोर देते हुए सरकार पर ‘तालिबान’ की तरह व्यवहार करने का आरोप लगाया.

केजरीवाल ने यह भी आरोप लगाया कि त्रिवेदी और दीक्षित को दूरसंचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री कपिल सिब्बल से मिलने की इजाजत भी नहीं दी गई थी और इन दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया था.
" "