" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

अन्ना के गढ़ में मोर्चा खोलेंगे अरविंद केजरीवाल


नई दिल्ली । राजनीतिक पार्टी बनाने का एलान करने के बाद अरविंद केजरीवाल अब महाराष्ट्र में अन्ना हजारे के गढ़ में भी अपनी सक्रियता दिखाने जा रहे हैं। केजरीवाल शुक्रवार को पश्चिमी महाराष्ट्र में गन्ना किसानों के विरोध प्रदर्शन में शामिल होकर राज्य की प्रमुख पार्टियों के व्यावसायिक हितों पर सवाल उठाएंगे। केजरीवाल ने आदोलनकारी किसानों के समर्थन में कहा है, राज्य की ज्यादातर पार्टियों के बड़े नेताओं के स्वार्थ चीनी कारोबार से जुड़े हैं। इसलिए सरकार किसानों का हक मार कर उन्हें मालामाल करने में लगी है।

उन्होंने सवाल किया है कि महाराष्ट्र में भाजपा, काग्रेस और राष्ट्रवादी काग्रेस पार्टी (राकापा) वालों की कितनी चीनी मिलें हैं? कौन-कौन से मंत्री मिल चलाते हैं? ये आकड़े सामने आ जाएं तो अपने आप पता चल जाएगा कि सरकार क्यों मिल मालिकों का समर्थन कर रही है और किसानों को कम मूल्य दे रही है। केजरीवाल बुधवार को ही पुणे जाने का कार्यक्रम बना चुके थे, लेकिन महाराष्ट्र प्रशासन की ओर से उन्हें जेल में बंद किसान आदोलन के नेता राजू शेट्टी से मुलाकात की इजाजत नहीं मिली। इसी वजह से उन्होंने अब शुक्रवार को वहा जाने का कार्यक्रम बनाया है।

केजरीवाल पुलिस गोलीबारी में मारे गए किसान के परिजनों से भी मिलेंगे। साथ ही किसानों को भी संबोधित करेंगे। पश्चिमी महाराष्ट्र का इलाका केजरीवाल के लिए नया नहीं है। अन्ना के साथ आदोलन के दौरान वह उनसे मिलने के लिए वहा जाते रहे हैं, लेकिन उनसे अलग होने के बाद यह उनका पहला सार्वजनिक कार्यक्रम होगा।

इस बीच महाराष्ट्र में गन्ना किसानों को मिलने वाली कीमत पर किसानों ने घमासान मचाया हुआ है। पश्चिम महाराष्ट्र में गन्ना कीमतों को लेकर चल रहा आदोलन बुधवार को और उग्र हो गया है। बुधवार को पुलिस द्वारा लाठिया चटकाए जाने पर कोल्हापुर के किसानों ने पुलिस वैन में आग लगा दी। सतारा में किसानों ने दो बसों में तोड़फोड़ की। सागली के आस्था गाव में एक गैस टैंकर में आग लगाने का प्रयास कर रहे गन्ना किसानों पर पुलिस ने हवाई फायरिंग की

" "