" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

अन्ना व केजरीवाल का कोई वजूद नहीं : स्वरूपानंद


जमशेदपुर : ज्योतिष पीठाधीश्वर व द्वारका शारदा पीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा कि अन्ना हजारे और अरविंद केजरीवाल का कोई वजूद नहीं है। ये दोनों कहीं भी कुछ भी बोल सकते हैं। इसलिए उन्हें गंभीरता से लेने की जरूरत नहीं है। बाबा रामदेव का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि धर्म गुरू को राजनीति नहीं करना चाहिए। किसी राजनीतिक दल पार्टी के पक्ष या विपक्ष में बोलना या उसका प्रचार करना धर्म गुरू का काम नहीं है। धर्म गुरू का काम धर्म की सेवा और रक्षा करना है। उन्होंने कहा कि जिस तरह सरकार ने अजमल कसाब को उसके किए की सजा दी उसी तरह अब अफजल गुरू को जल्द से जल्द फांसी दे।

शंकराचार्य शनिवार को गुरु कृपा धाम सोनारी में पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नक्सलवाद की समस्या हथियारों से समाप्त नहीं होगी। यह समस्या अच्छे विचारों से समाप्त होगी और अच्छे विचार शिक्षा से आएंगे। इसलिए सरकार को नक्सल प्रभावित इलाकों में बेहतर शिक्षा के इंतजाम प्राथमिकता के आधार पर करने चाहिए। उन्होंने कहा कि घोर नक्सल प्रभावित पश्चिमी सिंहभूम जिले के मनोहरपुर में स्कूल खोलने के लिए मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा से बात हुई है और उनसे जमीन मांगी गई है।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता राम जेठमलानी द्वारा श्रीराम को पति धर्म का पालन न करने वाला बताए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि राम जेठमलानी ने न तो भगवान श्रीराम को अच्छी तरह से समझा है और न रामायण ही अच्छी तरह से पढ़ा है। इसीलिए वे इस तरह का बयान दे रहे हैं। पहले वे श्रीराम को जानें, उसके बाद बयानबाजी करें। भ्रष्टाचार के सवाल पर उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार देश की सबसे बड़ी समस्या है। इसको जड़ से समाप्त करने के लिए हर स्तर से प्रयास होना चाहिए। हर व्यक्ति आज से ही ईमानदार प्रयास करना शुरू कर दे तो यह समस्या समाप्त होगी। उन्होंने कहा कि गंगा नदी को प्रदूषण मुक्त करने के लिए सरकार कड़े कानून बनाए। सरकार द्वारा किए गए अब तक के प्रयास नाकाफी हैं। इसलिए इलाहाबाद में लगने वाले कुंभ में साधु संतों की एक बैठक आयोजित की जाएगी, इसमें सभी वर्गो के लोगों को आमंत्रित किया जाएगा और सबकी राय से गंगा को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए रणनीति बनाई जाएगी।
" "