" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

आंदोलन शिथिल नहीं हुआ है : अन्ना


सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हज़ारे ने एक बार फिर दिल्ली में अपने आंदोलन का बिगुल फूंकते हुए 40 सदस्यों की एक टीम बनाने की घोषणा की और कहा है कि उनका आंदोलन किसी भी रुप में शिथिल नहीं हुआ है.

टीम में शामिल कुछ सदस्यों के नाम उन्होंने सार्वजनिक किए और बाकि नाम अगले एक महीने में तय किए जाएंगे.

"आंदोलन शुरु से ही इंडिया अगेंस्ट करप्शन रहा है. वो (अरविंद केजरीवाल) भी इस नाम का इस्तेमाल कर रहे हैं. वो ये नाम हमें देते हैं या नहीं वो बात अगल है लेकिन नाम हमारा ही है. हालांकि हम नाम के लिए झगड़ा नहीं करेंगे. " : अन्ना हज़ारे

दिल्ली में हुई बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए अन्ना हज़ारे ने कहा,“टीम अन्ना को टूटे हुए दो महीने हो गए. दो महीनों में लोगों को लगा कि अन्ना का आदोलंन रुक गया है. लेकिन ये कभी रुका नहीं था. आंदोलन शिथिल नहीं हुआ है. इसी शंका को दूर करने के लिए हमने 13 लोगों की मिटिंग बुलाई थी.”

इस बैठक के बाद जिन नए पांच नए सदस्यों को टीम अन्ना में जगह मिली हैं वो हैं, विशंबर चौधरी, अविनाश, धर्माधिकारी, शशिकांत और अक्षय कुमार. बाकी 40 सदस्यों को टीम की सहमती के बाद अगले एक महीने में चुना जाएगा.

पांच घंटे चली बैठक के बाद फैसला किया गया कि देश भर में स्वयंसेवकों की तैनाती की जाएगी. हर राज्य में लगभग 50 स्वयंसेवक होंगे जिनको ट्रेनिंग भी दी जाएगी.

अन्ना ने कहा कि दिल्ली के सर्वोदय एन्कलेव इलाके में टीम अन्ना के ऑफिस की रविवार को शुरुआत की जाएगी ताकि स्वयंसेवकों को एक जगह मिल सके.

अन्ना ने बताया कि उन्होंने पूर्व सेना अध्यक्ष जरवल वीके सिंह को भी इस बैठक के लिए न्योता भेजा था लेकिन वो इस बैठक में शामिल नहीं हो पाए और शाम को अन्ना से मुलाकात करेंगे.

संस्था के नाम पर सवाल पूछे जाने पर अन्ना हज़ारे ने कहा, “आंदोलन शुरु से ही इंडिया अगेंस्ट करप्शन रहा है. वो (अरविंद केजरीवाल) भी इस नाम का इस्तेमाल कर रहे हैं. वो ये नाम हमें देते हैं या नहीं वो बात अगल है लेकिन नाम हमारा ही है. हालांकि हम नाम के लिए झगड़ा नहीं करेंगे”

"हमारी जांच एजेंसिया स्वतंत्र नहीं है. हम समस्याएं तो देख रहे हैं लेकिन समाधान नहीं है.हमें लगातार भ्रष्टाचार की खबरे मिलती रही लेकिन भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हुई. " : किरण बेदी

अन्ना ने स्पष्ट किया कि इंडिया अगेंस्ट करप्शन को उन्होंने सिर्फ तस्वीर का इस्तेमाल करने से मना किया था.

इस मौके पर सरकार पर हमला बोलते हुए अन्ना ने कहा, “सरकार भ्रष्टाचार मुक्त शासन नहीं चाहती. सरकार सीबीआई के दम पर चल रही है. सरकार को 2014 से पहले जनलोकपाल लाना पड़ेगा नहीं तो जाना पड़ेगा.”

अन्ना ने कहा कि देश को अंग्रेजों ने इतना नहीं लूटा जितना सरकार ने 60 साल में लूटा है.

अन्ना 30 जनवरी 2013 से बिहार के पटना के गांधी मैदान से देश भर की यात्रा शुरु करेंगे. अन्ना ने कहा कि टीम अन्ना में मुस्लिम और आदिवासी नेताओं को भी शामिल किया जाएगा.

इस मौके पर किरण बेदी ने कहा, “हमारी जांच एजेंसिया स्वतंत्र नहीं है. हम समस्याएं तो देख रहे हैं लेकिन समाधान नहीं है.हमें लगातार भ्रष्टाचार की खबरे मिलती रही लेकिन भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हुई.”

किरण बेदी ने कहा कि जबतक जांच एजेंसिया स्वतंत्र नहीं होंगी तब तक हमें भ्रष्टाचार के बारे में पता तो चलेगा, समाधान नहीं मिलेगा.

" "