" "

भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत समर्थक

Follow by Email

अन्ना का देशव्यापी आंदोलन 30 नवंबर से


गुवाहाटी। सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने कहा कि केंद्र सरकार को लोकसभा चुनाव के पहले जनलोकपाल बिल लाने के लिए मजबूर कर दिया जाएगा। वह इसके लिए 30 नवंबर से नए सिरे से राष्ट्रव्यापी आंदोलन शुरू करने जा रहे हैं।

गुवाहाटी सर्किट हाउस में बुधवार शाम अन्ना ने फिर से जनलोकपाल के पक्ष में राष्ट्रव्यापी आंदोलन की हुंकार भरी। उन्होंने कहा कि जब एक करोड़ लोग सड़क पर उतरेंगे तो सरकार को जनलोकपाल विधेयक पारित करने को बाध्य कर देंगे और इस केंद्र सरकार को लोकसभा चुनाव के पहले विधेयक पारित कराना ही पड़ेगा। अन्ना ने कहा कि नए सिरे से आंदोलन शुरू करने केलिए दस नवंबर को कोर समिति का गठन होगा, जिसमें 55-60 सदस्य होंगे। हर राज्य से कम से कम दो सदस्य कोर समिति में शामिल किए जाएंगे। इसके अतिरिक्त एक सलाहकार समिति का भी गठन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि दीपावली के बाद देश भर से चुने गए 1500 कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित करने का कार्य आरंभ होगा। हर राज्य से न्यूनतम 50 कार्यकर्ताओं का चयन किया जाएगा और उन्हें आंदोलन को आगे ले जाने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। अन्ना ने कहा कि इस बार आंदोलन में किसान, मजदूर व शिक्षा के मामले को भी शामिल किया जाएगा।

भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप के बारे में पूछे गए सवाल पर अन्ना ने कहा कि क्या भाजपा, क्या कांग्रेस, सबका हाल एक जैसा है। घुसपैठ व भ्रष्टाचार पर गुरुवार को आयोजित होने वाले एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए अन्ना बुधवार शाम गुवाहाटी पहुंचे। आयोजन असम कृषक मुक्ति संग्राम समिति ने किया है। इसमें पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल वीके सिंह भी शामिल होंगे।

" "